Daily Current Affairs (Hindi) - 12.03.2018


राष्ट्रीय


http://www.iasexamcentre.com/community/images/Health-Niti.jpg

राष्ट्रीय स्वास्थ्य नीति

सरकार ने राष्ट्रीय स्वास्थ्य नीति, 2017 तैयार की और उसे अमल में लाई, जिसका उद्देश्‍य विकास संबंधी सभी नीतियों में निवारक और तत्‍पर स्‍वास्‍थ्‍य सेवा नीति के जरिए श्रेष्‍ठतम स्‍वास्‍थ्‍य हासिल करना तथा किसी भी प्रकार की वित्‍तीय कठिनाई के बिना उच्‍च गुणवत्‍ता वाली स्‍वास्‍थ्‍य सेवाएं प्रदान करना है।

राष्ट्रीय स्वास्थ्य 2017 में कुछ बीमारियों को रोकना और उनके फैलाव में कमी लाना है:

  • एचआईवी/एड्स : 2020 के वैश्विक लक्ष्‍य को हासिल करना (इसे 90:90:90 लक्ष्‍य भी कहा गया है)
  • 2018 तक कुष्‍ठ रोग, 2017 तक काला आजार और 2017 तक लिम्‍फेटिक फाइलेरियासिस को समाप्‍त करना।
  • 2025 तक तपेदिक को समाप्‍त करना : बलगम में रोग के लक्षण पाए जाने वाले मरीजों के इलाज की दर >85% पर बनाए रखना और नये मामलों में कटौती लाना।
  • अंधेपन की संभावना को कम करके 2025 तक 0.25/1000 पर लाना और बीमारी का बोझ वर्तमान स्‍तर से एक तिहाई पर लाना।
  • हृदय संबंधी बीमारियों, कैंसर, मधुमेह और सांस संबंधी गंभीर बीमारियों से होने वाली समय पूर्व मृत्‍यु को 2025 तक 25 प्रतिशत कम करना।

सार्वजनिक स्वास्थ्य राज्य का विषय हैं। सस्ती स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान करने की प्रमुख जिम्‍मेदारी संबद्ध राज्‍य/संघ शासित प्रदेश की सरकारों की है। राष्ट्रीय स्वास्थ्य के अंतर्गत सार्वभौमिक पहुंच वाली सस्‍ती और गुणवत्‍तापूर्ण स्‍वास्‍थ्‍य सेवा प्रदान करने के उद्देश्‍य से स्‍वास्‍थ्‍य व्‍यवस्‍था को मजबूत बनाने के लिए राज्‍यों/संघ शासित प्रदेशों को तकनीकी और वित्‍तीय सहायता प्रदान की जा रही है।


आर्थिक


http://www.iasexamcentre.com/community/images/rail-development.jpg

अमृत योजना के अंतर्गत रेलवे स्‍टेशनों का पुनर्विकास

  • स्मार्ट शहरों और कायाकल्‍प और शहरी रूपान्‍तरण के लिए अटल मिशन में शामिल शहरों के रेलवे स्‍टेशनों के पुनर्विकास की समेकित योजना के लिए रेल मंत्रालय और शहरी विकास मंत्रालय के बीच हाल ही में एक समझौता ज्ञापन पर हस्‍ताक्षर किए गए।
  • स्मार्ट शहरों की योजना के अंतर्गत निम्‍नलिखित दस रेलवे स्‍टेशनों की पहचान की गई, जिनका पुनर्विकास किया जाएगा : तिरुपति, दिल्‍ली सराय रोहिल्‍ला, नेल्‍लौर, मडगांव, लखनऊ, गोमतीनगर, कोटा, ठाणे नया, एर्नाकुलम जंक्‍शन और पुद्दुचेरी।
  • स्टेशन के पुन‍र्विकास की परियोजनाएं जटिल हैं और इनके लिए विस्‍तृत तकनीकी-आर्थिक संभावना का अध्‍ययन करने की जरूरत होती है और स्‍थानीय निकायों से वैधानिक मंजूरी लेनी होती है। अत: ऐसी स्थिति में परियोजनाओं के पूरा होने की कोई समय सीमा नहीं बताई जा सकती।
  • स्मार्ट शहरों और अमृत योजना के अंतर्गत स्‍टेशनों के पुनर्विकास की योजनाएं स्‍टेशनों के आस-पास खाली जमीन के व्‍यावसायिक विकास के जरिए बनाई जाती है। अत: इसके लिए कोई धनराशि निर्धारित नहीं की जाती है।यह जानकारी राज्‍यसभा में एक प्रश्‍न के उत्‍तर में दी गई।

संस्कृति


http://www.iasexamcentre.com/community/images/itb-burlin.jpg

आईटीबी-बर्लिन: भारत ने "सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शक पुरस्कार" जीता

  • भारत ने आईटीबी-बर्लिन में इसके अंतिम दिन ‘सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शक पुरस्कार ‘जीता है। ‘आईटीबी-बर्लिन वर्ल्ड टूरिस्ट मीट ‘7 मार्च से लेकर 10 मार्च, 2018 तक जर्मनी के बर्लिन में आयोजित की गई थी। इसमें भारत का प्रतिनिधित्व पर्यटन राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री के.जे. अल्फोंस ने पर्यटन मंत्रालय के दो पदाधिकारियों के साथ किया था।
  • 100 से भी अधिक देशों ने ‘आईटीबी-बर्लिन मीट’ में अपने-अपने संबंधित पर्यटन मंत्रियों के माध्‍यम से शिरकत की।इस दौरान भारत के ‘अतुल्य भारत (पर्यटन मंत्रालय)’ ने ‘योगी ऑफ द रेसट्रैक’ नामक एक लघु फिल्म प्रस्तुत की। इस लघु फिल्म को 60 घंटे में 3.2 मिलियन हिट्स मिले हैं।

भारत-विश्व


http://www.iasexamcentre.com/community/images/france-india.jpg

भारत-फ्रांस उच्च स्तरीय नॉलेज शिखर सम्मेलन, 2018

पहली भारत और फ्रांस उच्च स्तरीय नॉलेज शिखर सम्मेलन, 2018 का आयोजन फ्रांस के उच्च शिक्षा, अनुसंधान एवं नवोन्मेषण मंत्रालय (एमईएसआरआई) एवं भारत सरकार के मानव संसाधन विकास मंत्रालय के साथ साथ भारत में फ्रांस के संस्थान द्वारा संयुक्त रूप से किया गया है। फ्रांस में 5000 से अधिक भारतीय छात्र और भारत में फ्रांस के लगभग 1500 छात्र अध्ययन कर रहे हैं।

  • भारत और फ्रांस के बीच शैक्षणिक योग्यताओं की परस्पर स्वीकृति पर समझौता ज्ञापन के अतिरिक्त, उच्च शिक्षा, अनुसंधान, नवोन्मेषण, संकाय विनिमय वैज्ञानिक सहयोग के क्षेत्रों में भारत और फ्रांस के विभिन्न संस्थानों के बीच लगभग 15 एमओयू पर हस्ताक्ष किए गए।
  • भारत के अपने एमओओसी ‘स्वयम‘ के तहत, 700 से भी अधिक पाठ्यक्रम पहले ही आरंभ किए जा चुके हैं और लगभग 2 मिलियन छात्रों, संकायों एवं प्रोफेशनलों ने विभिन्न पाठ्यक्रमों के लिए खुद का पंजीकरण कराया है। उन्होंने कहा कि ‘किसी एटीएम (एनी टाइम मनी) की तरह ‘स्वयम‘ एटीएल (एनी टाइम लर्निंग) और एडब्ल्यूएल (एनी व्हेयर लर्निंग) है।‘
  • इसके अतिरिक्त, पीएमआरएफ के तहत प्रत्येक वर्ष लगभग 1000 छात्रों को प्रति महीने प्रति छात्र अत तक का सर्वाधिक 70 हजार रुपये से 80 हजार रुपये तक के छात्रवृत्ति की पेशकश की जाएगी। इन पहलों के अतिरिक्त, मंत्रालय ने पिछले वर्ष से स्मार्ट इंडिया हैकथन आरंभ किया है। पिछले वर्ष 2000 टेक्निकल एवं इंजीनियरिंग महाविद्यालयों से कुल 42,000 छात्रों ने इसमें भाग लिया। इस वर्ष लगभग एक लाख छात्र पहले ही इसमें भाग ले चुके हैं।
  • फ्रांस की उच्च शिक्षा, अनुसंधान एवं नवोन्मेषण मंत्री श्रीमती फ्रेडरिक विडाल ने कहा कि नॉलेज शिखर सम्मेलन 2020 तक फ्रांस में 10,000 छात्रों को आकर्षित करने के फ्रांस की सरकार द्वारा निर्धारित लक्ष्य की दिशा में एक अनिवार्य कदम है। पिछले वर्ष, 5000 से अधिक भारतीय छात्रों ने फ्रांस को अध्ययन गंतव्य के रूप में चुना था जो पिछले वर्ष की तुलना में 60 प्रतिशत अधिक है।
  • इस शिखर सम्मेलन में सहयोग के लिए सात प्राथमिकता क्षेत्रों की खोज की गई है: अंतरिक्ष एवं वैमानिकी, गणित एवं सूचना प्रौद्योगिकी, कृषि विज्ञान एवं खाद्य प्रसंस्करण, पारिस्थितिकी-ऊर्जा, प्राकृतिक संसाधन एवं जैव सक्रिय यौगिक, वास्तु कला एवं शहरी नियोजन और शहरी गतिशीलता।